बाउंस चेक क्या है ? चेक बाउंस क्यूँ होता है ?

ये तो हम और आप जानते ही हैं कि चेक क्या होती है फिर भी अगर आप नहीं जानते हैं तो मैं आपको कुछ आसान शब्दों में बता देना चाहता हूँ चेक बैंक की तरफ से खाताधारक के लिए जारी की गयी एक ऐसी किताब होती है जिसमें उपलब्ध पन्नो के जरिये खाताधारक किसी जाने या अनजाने व्यक्ति को भुगतान कर पाता है” /

अगर आप चेक के बारे में डिटेल में पढना चाहते हैं तो नीचे दिए गए उस आर्टिकल के लिंक पर क्लिक करके उस लेख को पढ़ सकते हैं| फिलहाल तो इस पोस्ट में हम बाउंस चेक के बारे में बात करेंगे |

बैंक चेकबुक क्या होती है और चेकबुक से पैसे कैसे निकालते हैं?

bounce cheque

अगर आपके पास चेकबुक है और आप ज्यादातर किसी को भुगतान चेक के जरिये ही करते हैं तो बाउंस चेक के बारे में आपको जरूर पता होना चाहिए क्यूंकि अगर आप बाउंस चेक के बारे में नहीं जानते हैं तो ऐसे में कभी भी जब आपका चेक बाउंस होगा तो जिसको आपने चेक दिया होगा पहले तो वो आपको बताएगा कि आपका चेक क्लियर नहीं हुआ अगर आप उसका पेमेंट चेक बाउंस होने के दिन से 30 दिनों के अन्दर नहीं कर पाते हैं तो लेनदार आप पर चेक बाउंस होने का मुकदमा चलवा सकता है जिसके अंतर्गत आपको लगभग दो साल की सजा और जुरमाना हो सकता है|

अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जिसको ज्यादातर चेक के जरिये पेमेंट मिलता है तो आपके लिए भी बाउंस चेक बारे में जानना अच्छा रहेगा क्यूंकि अगर आपको कोई चेक के जरिये पेमेंट देता है लेकिन चेक बाउंस हो जाने के कारण आपको पेमेंट नहीं मिल पाता है तो ऐसे में आप चेक देने वाले को बता सकते है कि आपकी दी हुई चेक बाउंस हो गयी है अगर वो आपको चेक बाउंस हो जाने के बाद भी पेमेंट नहीं दे पाता है तो आप उसके लिए लीगल नोटिस भेज सकते हैं इसके बाद यदि वो 30 दिनों के अन्दर आपको पेमेंट नहीं करता है तो आप उस पर चेक बाउंस का मुकदमा चला सकते हैं|

बाउंस चेक क्या होती है ?

जब कोई चेक लेनदार के द्वारा खाते में लगाया जाता है, तब किसी कारणवश देनदार की बैंक द्वारा उसे स्वीकार न करके रद्द कर दिया जाता है तो ऐसे चेक को बाउंस चेक कहा जाता है|

मान लो राम ने श्याम को एक लाख का चेक बनाके दिया अब श्याम उस चेक को अपने खाते में लगवाने के लिए अपनी बैंक में जमा कर देता है, अब ये चेक बैंक के द्वारा राम की बैंक को भेजा जायेगा उस चेक को राम की बैंक वेरीफाई करेगी अगर कुछ गड़बड़ी लगेगी तो बैंक उस चेक को बाउंस यानी रिजेक्ट कर देगी जिसे बाउंस चेक कहा जायेगा |

चेक बाउंस क्यूँ होता है ?

चेक बाउंस होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे खाते में चेक में लिखे बैलेंस से कम बैलेंस होना या चेक सही तरीके से नहीं भरा होना, चेक में किये गए सिग्नेचर अकाउंट में उपलब्ध सिग्नेचर से मैच न होना |

नीचे आपको इन्हीं प्वोइंट्स के बारे में निम्नवत बताया गया है |

  • चेक जारी करने वाले के खाते में चेक में लिखी राशी से का राशि होना |
  • चेक पर ज्यादा ओवरराइटिंग का होना |
  • चेक पर मौजूद सिग्नेचर का बैंक में मौजूद सिग्नेचर से मैच न हो पाना |
  • चेक देने वाले का खाता फ्रीज़ या फिर बंद होना |
  • चेक नीले या काले पेन के बजाय किसी दुसरे कलर के पेन से भरा होना |

चेक बाउंस न हो इसके लिए क्या करें ?

आप जिसे भी चेक दे रहे हैं तो चेक देते समय इन पॉइंट्स का ख़ास ध्यान रखें |

  • सुनिश्चित करें कि आप जितने रूपए की चेक काटने जा रहे हैं क्या उतने रूपए आपके खाते में हैं भी या नहीं जैसे अगर आप किसी को एक लाख का चेक दे रहे हैं तो खाते में एक लाख रूपए होने चाहिए|
  • आप चेक में उसी तरह के सिग्नेचर करें जैसे आपने खाता खुलवाते समय किये थे |
  • चेक को काले या फिर नीले पेन से ही भरें |
  • चेक में ज्यादा काट छांट का उपयोग न करें |
  • ये भी ध्यान रखें आपका खाता फ्रीज़ या फिर बंद नहीं होना चाहिए |

अगर आपको कोई चेक के जरिये भुगतान कर रहा है तो ऊपर बताये गए पॉइंट्स को ध्यान में रखते हुए ही चेक लें |

चेक बाउंस हो जाने पर क्या करें ?

अगर आपको कोई चेक देता है और वो चेक किसी भी कारण से बाउंस हो जाता है तो आपको क्या करना चाहिए ? आप कैसे अपना पैसा वसूल सकते हैं ? दोस्तों इस प्रक्रिया को समझना बहुत ज्यादा जरूरी है क्यूंकि इसमें आपका फायदा और नुक्सान छुपा हुआ है |

मान लो आप किसी के यहाँ कंपनी में काम करते थे आपकी सैलरी बनी 30 हजार अब मालिक ने आपको 30 हजार की चेक काटकर दे दी अब इस चेक को आपने अपने खाते में लगवाया आगे जाकर ये चेक बाउंस हो गया, अब चेक बाउंस होने पर आपको पेमेंट तो मिलेगा नहीं क्यूंकि बैंक ने उस चेक को रिजेक्ट कर दिया | अब आप सोच रहे होंगे की मालिक ने तो मुझे पेमेंट कर दिया लेकिन वो पेमेंट तो मुझे मिला नहीं अब मुझे क्या करना चाहिए ?

पहला तरीका – ये है कि आप उस व्यक्ति से बात कर लीजिये उसे बताइए कि आपका दिया हुआ चेक बाउंस हो गया है अब अगर वो आपको किसी और माध्यम से भुगतान कर देता है तब तो ठीक है मामला यहीं पर ख़त्म हो जाता है|

दूसरा तरीका – अगर आपको पहले तरीके से भुगतान नहीं मिलता है तो आप उस व्यक्ति को लीगल नोटिस भेज सकते हैं, इस नोटिस को आप खुद या किसी वकील से लिखवा सकते हैं| नोटिस देने के 30 दिनों के अन्दर यदि आपका भुगतान नहीं किया जाता है तो आप उस  व्यक्ति के खिलाफ NIA अधिनियम (नेगोशिएबल इन्स्ट्रमेंट एक्ट 1881) की धारा 138 के तहत क़ानूनी कारवाही कर सकते हैं जिसके अंतर्गत दो साल की सज़ा या फिर चेक में लिखी राशि का दोगुना देना पड़ सकता है|

देनदार को चेक बाउंस हो जाने पर क्या करना चाहिए ?

अगर आपने किसी और को चेक के जरिये पेमेंट दिया था लेकिन आपका दिया हुआ चेक बैंक ने बाउंस कर दिया तो सबसे पहले तो व्यक्ति आपसे संपर्क करेगा जिसको आपने चेक दी हुई होगी वो आपको बताएगा कि आपका दिया हुआ चेक बाउंस हो गया है अब आप उसे 30 दिनों से पहले पहले किसी भी माध्यम से भुगतान कर दें अन्यथा वो लीगल नोटिस भेजेगा और फिर उसके नोटिस भेजने के ठीक 30 दिन के अन्दर यदि आप उसका भुगतान नहीं कर पाते हैं तो वो व्यक्ति आपके खिलाफ NIA अधिनियम (नेगोशिएबल इन्स्ट्रमेंट एक्ट 1881) की धारा 138 के तहत क़ानूनी कार्यवाही करवा सकता है जिसके तहत आपको दो साल की सजा या चेक में लिखे अमाउंट दोगुना देना पड़ सकता है इसलिए समय रहते है आप उसका भुगतान कर दीजिये तो बेहतर रहेगा |

केस करने वाले व्यक्ति को भी इस बात को ध्यान में रखना होगा कि जो पेमेंट आपने उसे चेक के जरिये किया था तो वो किस चीज के लिए था और उसका पुख्ता सबूत क्या है|

बाउंस चेक धोखाधड़ी और फर्जी केस |

दोस्तों जिस चेक को आप लोगो को भुगतान करने के लिए अपने पास रखते हैं वो चेक आपके लिए मुसीबत भी बन सकता है इसलिए चेक के मामले में आपको चेक से सम्बंधित हर तरह का ज्ञान होना आवश्यक है|

चेक बाउंस से रिलेटेड केसेस में कई बार लोगो के साथ धोखाधड़ी हो जाती है जैसे यदि आपने अपनी चेक को कहीं खो दिया और किसी व्यक्ति ने उसे पाकर उसका दुरूपयोग किया तो ऐसे में भी आप फंस सकते हैं|

कई बार ऐसा भी हो जाता है, आपकी ब्लेंक चेक को कोई चुरा ले या कहीं पा जाये उस केस में आपकी चेक के द्वारा दुरूपयोग किया जा सकता है |

अगर आपने किसी के लिए ओपन चेक बनाई हुई थी और वो कहीं खो गई तो उस केस में पाने वाला व्यक्ति उसका दुरूपयोग कर सकता है|

चेक से सम्बंधित सुरक्षा की बातें |

अगर आप चेकबुक का इस्तेमाल करते हैं तो चेक के जरिये अपना नुक्सान होने से खुद बचा सकते हैं, नीचे बताये गए पॉइंट्स को ध्यान में रखें |

  • कभी भी चेकबुक को इधर उधर नहीं रखना चाहिए |
  • चेकबुक को हमेशा सुरक्षित स्थान जैसे ताला लगाकर रखना चाहिए |
  • अगर आप किसी को चेक का भुगतान करना चाहते हैं तो उस चेक को क्रॉस्ड चेक बना देना चाहिए और अकाउंट payee लिख देना चाहिए जिससे जिसको आप चेक दे रहे हैं वो सिर्फ अपने खाते में ही पैसे ले सकेगा |
  • कभी भी चेक पहले भरकर नहीं रखनी चाहिए |
  • चेक पर सिग्नेचर करके नहीं रखने चाहिए |
  • हमेशा बड़े अमाउंट की चेक क्रॉस्ड चेक में बनाकर देनी चाहिए |
  • यदि आप किसी चेक को पहले ही भरकर रखना चाहते हैं तो चेक का सेरियल नंबर जरूर नोट कर लें |
  • अगर आपका भरा हुआ चेक कहीं खो जाये तो तुरंत पुलिस थाणे में सीरियल नंबर ले जाकर उसके बारे में रिपोर्ट लिखवा लेनी चाहिए ताकि आपके पास एक डिफेन्स बन सके|

जहाँ चेक हमारे लिए फायदेमंद है वहीँ इसका नुक्सान भी हो सकता है लेकिन अगर आप चेक से जुडी हुई सभी सुरक्षा की बाते और भुगतान प्रक्रिया की बाते जानते हैं तो आपको चेक से जुडी हुई कभी भी कोई समस्या खड़ी नहीं होगी |

नोट – अगर आपको कोई चेक देता है लेकिन वो चेक बाउंस हो जाता है, चेक बाउंस हो जाने के बाद अगर चेक देने वाला आपको भुगतान नहीं करता है तो आप उस पर NIA अधिनियम (नेगोशिएबल इन्स्ट्रमेंट एक्ट 1881) की धारा 138 के तहत मुकदमा दर्ज करवा सकते हैं, यदि आपके साथ ऐसा मामला होता है तो आप अपना वकील जरूर करें क्यूंकि वही आपको इस केस के बारे में गाइड करेगा |

अगर आप चेक रखने वाले व्यक्ति हैं और किसी ने आपको फर्ची चेक बाउंस के केस में फसाया है, तो आपको तुरंत ही वकील कर लेना चाहिए इसके लिए वकील ही आपको सलाह दे सकता है कि आपको क्या करना और क्या नहीं करना चाहिए |

इस लेख में – आपने जाना कि बाउंस चेक क्या होता है और चेक बाउंस क्यूँ हो जाता है ? साथ ही में यह भी जाना कि चेक बाउंस होने पर लेनदार क्या कर सकता है और चेक जुडी हुई सुरक्षा क्या अपनानी चाहिए इन सभी चीजों के बारे में जाना उम्मीद करता हूँ यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी यदि इस पोस्ट से सम्बंधित आपका कोई भी सवाल या सुझाव है तो कमेंट करके जरूर पूछें | धन्यबाद ||

इन्हें भी पढ़ें –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Realme 12 Pro Plus 5g Price In India | Realme 12 Pro+5g कीमत ? “20,000 में Poco X6 5g: नए साल का नया फोन, हाई-एंड फीचर्स और बेहतरीन वैल्यू के साथ!” Oppo Reno 11 Pro & 11 5g Launchged In India : Oppo Reno Series का 11 Pro & 11 हुए लांच ये रहे प्राइस | 50Mp वाला यह 5G फ़ोन सिर्फ 12,000 में मिल रहा है | फ़ोन में सभी फीचर्स हाई क्वालिटी के और दाम सिर्फ नाम मात्र | Redmi Note 13 Seies में लांच हुए फ़ोन, जानें इनकी कीमत क्या है ? 12 GB रैम और 256 GB इंटरनल स्टोरेज के साथ लॉन्च होगा Oppo का ये घातक फोन, कीमत बस इतनी