क्रेडिट कार्ड क्या होता है ? क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुक्सान क्या हैं?

दोस्तों हम में से बहुत से लोगो के पास ATM Card तो होगा ही और हम सभी लोग ये भी अछि तरह जानते हैं कि एटीएम कार्ड होता क्या है ? लेकिन आप में से बहुत से लोगो को क्रेडिट कार्ड के बारे में नहीं पता होगा कि ये क्रेडिट कार्ड क्या होता है और कैसे मिलता है इसके क्या फायदे हैं और क्या नुक्सान हैं | दरसल क्रेडिट कार्ड बहुत कम लोगो को मिलता है और कुछ लोग तो जानकारी न होने की वजह से क्रेडिट कार्ड का उपयोग नहीं करते हैं और इसको बनवाने के चक्कर में पड़ते ही नहीं हैं जबकि दोस्तों क्रेडिट कार्ड के कई सारे फायदे होते हैं अगर आपको इसके फायदों के बारे में पता हो तो शायद आप भी अपना क्रेडिट कार्ड बनवा लें |

आज की यह पोस्ट क्रेडिट के बारे में है इस पोस्ट में आपको क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसके क्या फायदे हैं और क्या नुक्सान होते हैं साथ ही साथ इसको कैसे बनवाते हैं इसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं तो लेख को अंत तक जरूर पढना |

 

Credit card kya hota hai

 

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

दोस्तों जिस तरह एटीएम कार्ड होता है और डेबिट कार्ड होता है उसी तरह एक क्रेडिट कार्ड होता है ? | लेकिन इन दोनों में अंतर यह है कि जो एटीएम कार्ड या डेबिट कार्ड होता है वो बैंक अकाउंट से लिंक होता है जबकि क्रेडिट कार्ड किसी बैंक अकाउंट से लिंक नहीं होता है इसलिए हम डेबिट या एटीएम कार्ड से सिर्फ उतने ही पैसे खर्च कर सकते हैं जितने हमारे बैंक खाते में होंगे क्यूंकि डेबिट कार्ड हमारे बैंक खाते से लिंक होता है तो जितने रूपए हमारे बैंक खाते में सेव होंगे हम सिर्फ सिर्फ उन्हीं पैसों को ही खर्च कर पाएंगे जबकि क्रेडिट कार्ड से हम बैंक खाते में पैसे न होने पर भी भी शौपिंग कर सकते हैं क्यूंकि जब बैंक किसी को क्रेडिट कार्ड जारी करता है तो वो उसे एक लिमिट दे देता है जोकि 25000 से लेकर 300000 रूपए तक की हो सकती है और इतनी लिमिट तक हम क्रेडिट कार्ड से खर्चा कर सकते हैं मतलब अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड है और उसकी लिमिट महीने में 1 लाख रूपए खर्च करने की है तो आपके अकाउंट में पैसे हो या न हो आप एक लाख रूपए तक महीने में खर्च कर सकते हैं और ये एक लाख रूपए आपको एक Due डेट में चुकाने पड़ेंगे मतलब अगर आपने 1 जनवरी में अपने क्रेडिट कार्ड से 50000 रूपए खर्च किये तो ये रूपए आपको फरवरी की 15 डेट तक चुकाने होंगे अगर आप इस तारीक तक अपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किये गए पैसे चुका नहीं पाते हैं तो बैंक खर्च किये गए पैसों पर पेनाल्टी लगाने लगता है आप अपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किये गए पैसों को जितनी ज्यादा देर में जमा करेंगे तो उतना ही आपको पेनाल्टी भी देना पड़ेगा अगर आप बैंक की Due डेट तक पैसों का भुगतान कर देते हैं तो आप पर कोई पनाल्टी नहीं लगेगी |

ज्यादातर बैंक क्रेडिट कार्ड से खर्च किये गए पैसों का 45 दिन तक कोई चार्ज नहीं लेते हैं मतलब अगर आपने अपने बैंक के दिए गए क्रेडिट कार्ड से जनवरी की 5 तरीक को 50000 रूपए खर्च किये तो ये रूपए आपको फरवरी की 20 तरीक तक चूका देने हैं अगर आप इससे ज्यादा दिन लगाते हैं तो आप पर एक्स्ट्रा चार्ज लिया जाता है|

सीधे सीधे शब्दों में कहें तो क्रेडिट कार्ड किसी भी बैंक से लिया गया एक उधार होता है जो आपको बैंक के बताये गए समय से पहले चुकाना होता है अगर आप आप बैंक के बताये गए समय से पहले अपने क्रेडिट का भुगतान नहीं करते हैं तो बैंक आपके क्रेडिट पर एक्स्ट्रा चार्ज लगाने लगता है और ये चार्ज भी आपको देना ही पड़ता है|

 

क्रेडिट कार्ड / डेबिट कार्ड इन दोनों में अंतर

डेबिट कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक होता है इससे आप उतने ही पैसे खर्च कर सकते हैं जितने आपके बैंक खाते में जमा हैं जबकि क्रेडिट कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक नहीं होता है और इससे आपके खाते में पैसे हो या न हों आपकी बैंक ने क्रेडिट कार्ड पर जितने भी रूपए की लिमिट रखी है उतने रूपए आप महीने में खर्च कर सकते हैं|

 

क्रेडिट कार्ड के फायदे –

क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा तो यही है कि अगर आपको इमरजेंसी में कही पैसों की जरूरत पड़ जाए तो अगर आपको कही से भी पैसे नहीं मिल पा रहे हैं तो आप अपने क्रेडिट कार्ड से रूपए निकाल सकते हैं और बाद में आप 45 दिनों में उन पैसों का भुगतान अपने बैंक को कर सकते हैं |

जब आप अपने क्रेडिट कार्ड से कोई शौपिंग करते हैं या पेमेंट करते हैं तो उस पर आपको रिवॉर्ड मिलते हैं जिन्हें आप रिडीम कर सकते हैं|

क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन शौपिंग करने पर आपको काफी सारी छूट मिल जाती है , amazon जैसी बड़ी बड़ी इ कॉमर्स कंपनियां क्रेडिट कार्ड पर 10% तक की छूट दे देती हैं मतलब अगर आप किसी Online Sopping वेबसाइट से कोई 10000 रूपए का प्रोडक्ट आर्डर करते हैं तो आप 1000 रूपए तक बचा सकते हैं|

 यह भी पढ़ें – किसी भी बैंक के एटीएम से पैसे कैसे निकालते हैं?

क्रेडिट कार्ड के नुक्सान –

क्रेडिट कार्ड से खर्च किये गए पैसों को अगर आप समय पर नहीं चूका पाते हैं तो आपके उपर पेनाल्टी लगने लगती है मतलब अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किये गए पैसों को उसकी DUE डेट तक जमा नहीं करते हैं तो आपको ज्यादा पैसों का भुगतान करना पड़ता है|

इसका दूसरा सबसे बड़ा नुक्सान यह है कि जब आप अपने क्रेडिट कार्ड से एटीएम मशीन से कैश निकालते हैं तो कैश निकालने के दिन से ही आप पर पेनाल्टी लगनी शुरू हो जाती है जब तक की आप निकाले गए कैश का भुगतान नहीं कर देते हैं |

तीसरा सबसे बड़ा नुक्सान यह है कि अगर आपका क्रेडिट कार्ड कही भी गुम हो जाता है, तो पाने वाला बंदा अगर इससे कोई इंटरनेशनल transaction करता है तो वो transaction हो जाता है और इसका कोई OTP भी आपको नहीं मिलता है हालाँकि अगर कोई नेशनल transaction करता है तो उसका OTP आपको मिलता है| इसलिए इसे गुम होने के तुरंत बाद आपको इसे बंद करा देना चाहए |

इसका ये भी बड़ा नुकसान है कि अगर आपके पास ये है तो आप इससे फिजूल खर्ची भी कर सकते हैं और इसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ता है क्योंकि इसका बिल तो आपको ही पे करना पड़ेगा|

 

क्रेडिट कार्ड का बिल कैसे आता है और उसे पे कैसे करते हैं?

जब आप अपने क्रेडिट कार्ड से कुछ भी खर्चा करते हैं तो उसका बिल कुछ दिन के बाद Generate होता है और ये बिल आपके बैंक में दिए गए एड्रेस पर भेजा जाता है और इसके अलावा ये बिल आपकी नेट बैंकिंग में भी शो होता है अगर आपके पास नेट बैंकिंग है तो आप अपने क्रेडिट कार्ड के बिल को नेट बैंकिंग में भी देख सकते हैं | अगर आपके पास नेट बैंकिंग नहीं है तो ये बिल आपको आपके एड्रेस पर भी मिल जायेगा | बिल में सारी डिटेल्स दी हुई होती है कि आपने अपने क्रेडिट कार्ड से कितना पैसा खर्च किया है और कहा कहा खर्च किया है और अगर आप पर कोई एक्स्ट्रा चार्ज लगा है तो उसकी डिटेल्स भी उसमें दी हुई होती है | बिल में आपको एक Due डेट भी मिल जाती है उस डेट तक आपको पेमेंट कर देना है | पेमेंट आप 2 तरह से कर सकते हैं आप चाहे तो मिनिमम बैलेंस जमा कर सकते हैं या फिर आप पूरा का पूरा पेमेंट भी कर सकते हैं| यहाँ पर मै आपको सलाह दूंगा हमेशा आपको फुल पेमेंट ही करना चाहिए क्योंकि इससे आपको एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देने पड़ेंगे |

आप अपने बिल भुगतान बैंक जाकर भी कर सकते हैं या फिर आप अपने नेट बैंकिंग में login करके भी अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कर सकते हैं| इसके अलावा आप फ़ोन पे या गूगल पे से भी अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कर सकते हैं|

 

कौन बनवा सकता है क्रेडिट कार्ड ?

अगर आपके पास एक अच्छा इनकम सोर्स है आप बहुत अच्छा पैसा कमाते हैं आपकी कोई बढ़िया सैलरी वाली जॉब है या फिर आपका कोई अच्छा बिज़नस चल रहा है तो आप क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं| क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करने से पहले सुनिश्चित करें कि क्या आप अच्छा इनकम करते हैं तभी क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें क्योंकि बैंक किसी को क्रेडिट कार्ड तभी जारी करता है जब वो अछे पैसे कमाता हो उसका अच्छा सिविल स्कोर हो तो ये सब चीजें बैंक देखता है उसके बाद ही क्रेडिट कार्ड जारी करता है|

 

क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करते हैं?

क्रेडिट कार्ड के लिए आप 2 तरह से अप्लाई कर सकते हैं|

1 – बैंक की वेबसाइट से – आप अपने बैंक की वेबसाइट से क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं| जैसे SBI है तो SBI की वेबसाइट से अप्लाई करेंगे और ICICI है तो ICICI की वेबसाइट से अप्लाई करेंगे | इसके अलावा आप अपने बैंक की नेट बैंकिंग से भी क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं|

2 – बैंक में जाकर –अगर आप चाहे तो बैंक जाकर भी अप्लाई कर सकते हैं बैंक से आपको एक फॉर्म लेना होगा और उसको भरकर बैंक में जमा कर देना है |

अप्लाई करने के बाद से आपका क्रेडिट कार्ड आपके एड्रेस पर एक महीने के अन्दर अन्दर पहुँच जाता है आपने जो भी बैंक में एड्रेस दिया होगा उस एड्रेस पर आपका क्रेडिट कार्ड भेज दिया जाता है |

 

क्रेडिट कार्ड का यूज़ कैसे किया जाता है?

जब बैंक आपको क्रेडिट कार्ड जारी करता है तो उसकी एक लिमिट होती है जोकि यह 25000 से लेकर 300000 रूपए तक की हो सकती है यह समय के साथ घटती बढती रहती है | आपके बैंक ने आपके क्रेडिट कार्ड पर जितने भी रूपए की लिमिट रखी होगी आप उतने रूपए एक महीने में खर्च कर सकते हैं| आप इससे किसी को Online पेमेंट कर सकते हैं या फिर आप एटीएम मशीन से कैश निकाल सकते हैं|

 

लेख के अंत में –

अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग स्मार्टली तरीके से करते हैं तो आप इसके फायदों का पूरा पूरा लाभ उठा सकते हैं जैसे अगर आपने जो पैसा खर्च किया है अगर आप उसका बिल टाइम पे चूका देते हैं तो इसका आपको फायदा मिलेगा और अगर आप इसे समय पर नहीं चुकाते हैं तो आपको कई सारे नुकसान होते हैं जैसे क्रेडिट लिमिट कम हो जाती है और बैंक पेनाल्टी लगाने लगता है आदि |

आज के इस पोस्ट में आपने जाना कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसके क्या क्या फायदे और नुक्सान हैं साथ ही में इसके बारे में और भी बहुत कुछ जाना उम्मीद है इस पोस्ट में दी गयी जानकारी आपको पसंद आई होगी अगर आपको यह पोस्ट अछि लगी हो तो इसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें | धन्यबाद ||

यह भी पढ़ें –

  • kyc form कैसे भरते हैं?

  • SBI Bank में Online और Offline मोबाइल नंबर कैसे बदलें?

  • सेविंग अकाउंट कितने रख सकते हैं जिससे टैक्स न देना पड़े ?

  • सेविंग अकाउंट में कितना पैसा जमा कर सकते हैं?

  • आधार कार्ड से पैसे कैसे निकालते हैं?

  • मेरा Atm card अभी कहा तक पहुंचा है कैसे पता करें ?

  • SBI Bank balance कैसे चेक करें ?

  • एटीएम फॉर्म कैसे भरते हैं ?

  • Atm Card कितने दिन में आता है ?

  • क्या कोई भी व्यक्ति मेरी बैंक पासबुक से पैसे निकाल सकता है ?
  • Leave a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Realme 12 Pro Plus 5g Price In India | Realme 12 Pro+5g कीमत ? “20,000 में Poco X6 5g: नए साल का नया फोन, हाई-एंड फीचर्स और बेहतरीन वैल्यू के साथ!” Oppo Reno 11 Pro & 11 5g Launchged In India : Oppo Reno Series का 11 Pro & 11 हुए लांच ये रहे प्राइस | 50Mp वाला यह 5G फ़ोन सिर्फ 12,000 में मिल रहा है | फ़ोन में सभी फीचर्स हाई क्वालिटी के और दाम सिर्फ नाम मात्र | Redmi Note 13 Seies में लांच हुए फ़ोन, जानें इनकी कीमत क्या है ? 12 GB रैम और 256 GB इंटरनल स्टोरेज के साथ लॉन्च होगा Oppo का ये घातक फोन, कीमत बस इतनी