H.T.M.L.से परिचय ।

Hello दोस्तों स्वागत है आपका हमारे Top Tech Tips के इस ब्लॉग में आज के इस आर्टिकल में हम Html languadge के बारे में बात करेंगे जिसमें हम आपको बताएंगे कि html languadge क्या होती है ? और इस भाषा का उपयोग किसलिए किया जाता है ?
पूरी जानकारी जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।
तो चलिए शुरू करते हैं और आपको बताते है कि html languadge क्या होती है ?
         
  • Html languadge क्या है ?
आमतौर पर यह एक कंप्यूटर में यूज कि जाने वाली भाषा है जिसका उपयोग वेबसाइट के वेबपेज बनाने के लिए किया जाता है यह एक (codiya)  कोड का इस्तेमाल करने वाली भाषा है इसमें विभिन्न प्रकार के tags का उपयोग टैक्स्ट को formate करने के लिए प्रयोग किया जाता है। tags को हम code भी कह सकत  हैं ।
Tags के बीच में टैक्स्ट को रखा जाता है फिर इसे वेबसाइट के वेबपेज पर लागू किया जाता है। Html का पूरा नाम hyper text markup language है।

building

क्या अब भी आपको समझ में नहीं आया कि html क्या है हमें पता है इसे समझने में आपकोबहुत कठिनाई होगी क्युकी बिना उदाहरण के ऐसी चीजों को समझ पाना काफी मुश्किल है।
तो चलिए उदाहरण के साथ हम आपको html के बारे में बताते हैं।
मान लिया आपकी कोई वेबसाइट है जिस पर आप आर्टिकल्स लिखते हैं और उन आर्टिकल्स को लिखने के लिए आप कीबोर्ड का इस्तेमाल करते हैं जब आप टैक्स्ट को लिखते हैं तो उसे फॉर्मेट भी करना पड़ता होगा मतलब अगर आपको किसी टैक्स्ट को बोल्ड करना है तो सिंपली उस टैक्स्ट को कॉपी करके बोल्ड वाले आइकन पर क्लिक करके उसे बोल्ड करते होंगे इसी तरह किसी टैक्स्ट को तिरछा, अंडरलाइन करने के लिए italic और अंडरलाइन विकल्प पर क्लिक करते होंगे लेकिन html भाषा में आपको tags के द्वारा टैक्स्ट को तिरछा ,बोल्ड,अंडरलाइंग करना पड़ता है इसमें आपको पहले उस टैग को ब्रैक्ट्स के मध्य रखना पड़ता जिस टैक्स्ट को आप फॉर्मेट करेंगे ।Tags टेक्स्ट के ऊपर कमांड का कार्य करते हैं।
यही tags टेक्स्ट को बताते हैं कि wabpageपर टेक्स्ट को कैसे दिखाना है। यदि आप html coding जानते हैं तो आप एक बेहतरीन वेबपेज बना सकते हैं। Html भाषा में सारा कमाल coding का होता है यदि आप किसी wabpage को बिना कोडिंग के यानी नॉर्मल तरीके से टाइपिंग करते हैं तो आपको बार बार टेक्स्ट को फॉर्मेट करने के लिए टेक्स्ट कॉपी करके फिर फॉर्मेट icons पर क्लिक करके टेक्स्ट को फॉर्मेट करेंगे लेकिन html मैं आपको सिर्फ टेक्स्ट से पहले उस टैग को रखना पड़ेगा जिस टेक्स्ट पर आप टैग कि कमांड लागू करना चाहते हैं।
फाइनली अब आप समझ चुके होंगे कि html लैंग्वेज क्या है और शायद आपके मन में प्रश्न आ रहा होगा कि यह टैग क्या होते हैं और इनके बीच टेस्ट को कैसे लिखा जाता है तो चलिए हम इस पर भी बात कर लेते हैं।
  • Tags क्या होते हैं और इनके बीच टैक्स को कैसे लिखा जाता है ?
Tags एक प्रकार के कोड होते हैं जो टेक्स्ट से पहले रखे जाते हैं और ये टेक्स्ट को फॉर्मेट करने के लिए कमांड का कार्य करते हैं। Tags को <Tag> bractes के मध्य रखा जाता है। जैसे आप अगर wabpage का टाइटल बनाना चाहते हैं तो आपको tittle tag का उपयोग करना पड़ेगा। जैसे हमारे वेबपेज का टाइटल  है-  HTMl क्या है ?   तो हमें इस टेक्स्ट को टाइटल टैग के अंदर कुछ इस प्रकार रखना होगा
<tittle>HTML क्या है ?<tittle/>
जब यह वेबपेज पर लागू किया जाएगा तो यह वेबपेज का टाइटल होगा।
प्रत्येक wabpage को html tag से शुरु किया जाता है और html tag पर बंद किया जाता है।
अब तक आपने समझ लिया होगा कि html languadge और html tag क्या होते हैं।
तो चलिए अब बात कर लेते हैं कि tags कितने प्रकार के होते हैं।

      
  • Html Tags के प्रकार ।

Html टैग मुख्यत: दो प्रकार के होते हैं।
1-Closs tag
2-Open tag
1-Closs tag > यह वह Tags होते हैं जो टेक्स्ट के पहले भी और बाद में भी रखे जाते हैं।अतः ऐसे tags जिनका उपयोग टैक्स्ट से पहले और टेक्स्ट के अंत में भी किया जाता वो क्लोस यानी बंद टैग्स कहलाते हैं। जैसे tittle tag एक closs टैग है। Closs टैग को कुछ इस प्रकार लिखा जाता है।  <tittle>text</tittle>
Closs tag को हमेशा / स्लेश देन के साथ बंद किया जाता है।
2-Open tag > वे टैग जो सिर्फ टैक्स्ट से पहले ही लिखे जाते हैं अंत में नहीं । Open tag के बाद टेक्स्ट लिखकर खाली छोड़ दिया जाता है।ऐसे टैग्स को हम open tag यानी खुला टैग्स कहते हैं।
जैसे > pairagraph tag  <p> text
दोस्तो अब तक आप समझ चुके होंगे कि टैग्स के कितने प्रकार होते हैं तो चलिए अब बात कर लेते हैं कि html document को कितने भागों में बांटा जाता है। 
   
  • HTML document के भाग 
Html document को मुख्यत: 2 भागों में बांटा जाता है 1-head वर्ग 2-body वर्ग।
1-Head वर्ग में head tag और tittle tag को शामिल किया जाता है।
2- body वर्ग document के मुख्य भाग को इंगित करता है मतलब body tag के अंदर वेबपेज की मुख्य सामग्री रहती है। ये सभी टैग्स क्लोज टैग्स हैं।
तो चलिए ये तो बात हो गई कि html डॉक्युमेंट दो भागों में बटा होता है अब बात कर लेते हैं उन टैग्स के बारे में जिनका उपयोग प्रत्येक html दस्तावेज बनाने के लिए किया जाता है वो टैग्स सिर्फ चार ही हैं और ये डॉक्युमेंट टैग कहलाते हैं
1-<html> 2- <head>
3-<tittle> 4-<body>
यह सभी क्लोज टैग हैं इनके बिना हम किसी भीHtml document की रचना नहीं कर सकते हैं।
1-<html> tagयह टैग html दस्तावेज की संरचना के सबसे आरंभ में रखा जाता है और सबसे आखिर में इसे क्लोज html tag से बंद कर दिया जाता है।
2-<tittle> tag- यह टैग wabpage का टाइटल देने के लिए प्रयोग किया जाता है यह भी क्लोज टैग है।
3-<head> tag और <tittle> tag – head टैग को हम टाइटल टैग का हिस्सा कह सकते हैं।
Tittle tag को head tag से क्लोज किया जाता है।
जैसे – <head>
 <tittle> tittle text <tittle/>
    <head/>
हम कह सकते हैं कि head tag tittle tag को बंद करता है।
4-<body> tag – यह टैग बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पूरे वेब पेज की संरचना और बनावट को इसी टैग के में फॉर्मेट किया जाता है। इस टैग में वेबपेज की मुख्य सामग्री शामिल रहती है। इस टैग को head tag बाद में और html tag से पहले रखा जाता है। यह टैग भी क्लोज टैग है।
दोस्तों आगे आने वाली सभी टैग्स जिन्हें हम आपको विस्तारपूर्वक समझाएंगे वे सभी body tag के अंदर ही रखे जाते हैं। इस प्रकार यह 4 मुख्या tag पूरे वेबपेज की व्याख्या करते हैं और इन्हें सभी html फाइलों में प्रयोग किया जाता है।
तो चलिए अब बात कर लेते हैं body tag के अंदर रखे जाने वाले प्रमुख टैग्स के बारे में इन्हें हम text formatting tags कहते हैं।
Text formatting tags
यह टैग उन सभी जानकारियों को शामिल करते हैं जिन्हें आप अपने वेबसाइट के वेब पेज में प्रदर्शित करना चाहते हैं। इस प्रकार text formatting tags का उपयोग करके वेबपेज के text को फॉर्मेट किया जा सकता है।ध्यान रखें text formatting tags भी दो प्रकार के होते हैं।
1-अक्षरों को फॉर्मेट करने वाले tags
2-पैराग्राफ को फॉर्मेट करने वाले tags
अक्षरों को फॉर्मेट करने वाले tags केवल अक्षरों या शब्दों कोformate करते हैं जबकि पैराग्राफ को फॉर्मेट करने वाले tags text के पूरे हिस्से को फॉर्मेट करते हैं। चलिए जान लेते हैं अक्षरों को formate करने वाले tags के बारे में।
1-अक्षरों को formate करने वाले tags के बारे में।
1-<Bold> tag – यह टैग टेक्स्ट को मोटा पन उभार देता है यानी टैक्स को बोल्ड कर देता है।यह टैग क्लोज यानी बंद टैग है।
जैसे – <Bold>this is text<Bold/>
       this is text

2- <I> tag – यह टेक्स्ट को तिरछा कर देता है।यह भी एक बंद टैग है।
जैसे – <I>this is text <I/>
         This is text

3-<U> tag– स्टेट्स को अंडरलाइन करने के लिए प्रयोग किया जाता है।
जैसे – <U>this is text
<U>
           this is text

4- <samll> tag – यह टेक्स्ट को छोटा कर देता है यह बंद टैग है।
जैसे –  <samll>this is text

<samll>
             this is text
5-<big> tag – यह टैग टेक्स्ट को बड़ा करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह एक बंद टैग है।
6-<blink> tag – यह टैग टेक्स्ट को टिमटिमाने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह भी बंद टैग है।
7- <TT> यह टैग टेक्स्ट के फ़ॉन्ट को बदलने के लिए प्रयोग किया जाता है। इसे भी बंद करने की  आवश्यकता पड़ती है।
8- Heading tags – यह 6 प्रकार के होते हैं ।
1- <H1> , 2-<H2>, <H3>, <H5> , <H6>
ये सभी टेक्स्ट को headings देने के लिए और बड़ा करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। यह सभी बंद टैग्स हैं। इनमें <H1> सबसे बड़ा टैग है और  <H6> सबसे छोटा टैग है।
और भी ऐसे बहुत से टैग्स हैं को बॉडी टैग के अंदर रखे जाते हैं। तो चलिए ये तो बात हो गई बॉडी टैग के अंदर रखे जाने वाले अछरों को फॉर्मेट करने वाले tags के बारे में अब बात कर लेते हैं पैराग्राफ को फॉर्मेट करने वाले tags के बारे में।
2-pairagraph को फॉर्मेट करने वाले tags
1- <p> tag- यह टेक्स्ट को नया पैराग्राफ देने के लिए प्रयोग किया जाता है । यह ओपन टैग है। आमतौर पर इसका उपयोग लेख में ज्यादा किया जाता है।
जैसे – <p> text

2- <centre> tag – यह टेक्स्ट को सेंटर में डालने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह एक बंद टैग है।
जैसे- <centre>text<centre/>

  •  आर्टिकल की अंतिम लाइनें।
दोस्तों इस तरह html में और भी बहुत से प्रकार के टैग्स का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यहां पर हमने सिर्फ आपको समझाने के लिए चंद टैग्स के बारे में बताया है। इन मुख्य टैग्स का उपयोग करके आप एक अच्छा html document तैयार कर सकते हैं। आज आपने इस आर्टिकल को पढ़कर html भाषा क्या होती है और इसका उपयोग कंप्यूटर में किसलिए किया जाता है इसके बारे में बहुत कुछ जान और समझ लिया है।
हमें उम्मीद है कि इस लेख से आपको html के बारे में बहुत कुछ जानकारी मिल गई होगी अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो कृपया इसे शेयर कर दें और यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो comment box में अपना सवाल पूछे हम आपके सवालों का इंतेज़ार करते हैं और बाखूबी उसका जवाब देने के लिए तैयार रहते हैं।

यह ट्यूटोरियल हिंदी में Technology से सम्बन्धित जानकारियां देता है यहां आपको मोबाइल इंटरनेट,कंप्यूटर इंटरनेट , सॉफ्टवेयर,हार्डवेयर, इत्यादि की बहुत सी जानकारियां सीखने को मिलती हैं।

Call forwarding क्या होती है ? इमेल और जीमेल में क्या होता है ?
मोबाइल हैंग क्यों होते हैं इन्हें हैं हैंगे से कैसे बचाएं ? कस्टमर id क्या होती है ?
चोरी का मोबाइल कैसे यूज़ करें ? एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या होते हैं ?
लॉगइन का क्या मतलब होता है ? मोबाइल एप्स इंग्लिश कैसे सीखें ?
सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट क्या होता है ? whatsapp हैक होने से कैसे बचाएं ?
लॉगआउट क्या होता है ? लोकेशन चेक करने वाला ऐप जानिए इसके बारे में।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Realme 12 Pro Plus 5g Price In India | Realme 12 Pro+5g कीमत ? “20,000 में Poco X6 5g: नए साल का नया फोन, हाई-एंड फीचर्स और बेहतरीन वैल्यू के साथ!” Oppo Reno 11 Pro & 11 5g Launchged In India : Oppo Reno Series का 11 Pro & 11 हुए लांच ये रहे प्राइस | 50Mp वाला यह 5G फ़ोन सिर्फ 12,000 में मिल रहा है | फ़ोन में सभी फीचर्स हाई क्वालिटी के और दाम सिर्फ नाम मात्र | Redmi Note 13 Seies में लांच हुए फ़ोन, जानें इनकी कीमत क्या है ? 12 GB रैम और 256 GB इंटरनल स्टोरेज के साथ लॉन्च होगा Oppo का ये घातक फोन, कीमत बस इतनी